प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस: सराहनीय योगदान के लिए चिकित्सक, नर्स व आशा सम्मानित


यूरेशिया संवाददाता


नोएडा।  प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस में सराहनीय योगदान देने वाले  चिकित्सकोंस्टाफ नर्सएएनएमआशाबीपीएम डाटा एंट्री ऑपरेटर, टेक्नीशियन को शुक्रवार को आईएमए भवननोएडा के सभागार में सम्मानित किया गया।


 समारोह में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनुराग भार्गव एवं  इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष डॉ एन के शर्मा ने 18 चिकित्सकों, 18 स्टाफ नर्स,18  एएनएम, 18 आशा,4  बीपीएम, 5  डाटा एंट्री ऑपरेटर को प्रशस्ति पत्रसील्डमेडल देकर सम्मानित किया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनुराग भार्गव ने कहा हम सब का दायित्व है कि प्रत्येक गर्भवती को पांच निशुल्क जांच- ब्लड टेस्टब्लड प्रेशरयूरिन टेस्टहीमोग्लोबिनअल्ट्रासाउंड प्रत्येक महीने की नौ तारीख को उपलब्ध करवाने में बढ़ चढ़कर भाग लें। यह जांच ज़िले के लगभग हर स्वास्थ्य केन्द्रों पर उपलब्ध हैं। आईएमए अध्यक्ष डॉ एन के शर्मा ने कहा आईएमए प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान में सहयोग करेगा। इसके सभी सदस्यों से हर महीने की नौ वीं तारीख को सुबह बजे से 11 बजे तक नि:शुल्क परामर्श प्रदान करने का अनुरोध करेगा।


  प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के नोडल डॉ वी.बी.ढाका ने बताया इस दिन कमजोर गर्भवती की पहचान कर उनकी देखभाल की जाती है। जरूरत पड़ने पर इलाज किया जाता है। डॉ ढाका ने बताया वर्तमान में ज़िले के नौ अस्पतालों में यह दिवस मनाया जाता है। अब और अस्पतालों को चिन्हित करके इस नौ तारीख को मनाया जायेगा। जिला कर्यक्रम प्रबंधक  ने बताया प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियानप्रजनन मातृ नवजात शिशु एवं किशोर स्वास्थ्य (आरएमएनसीएच + एरणनीति के तहत निदान तथा परामर्श सेवाओं सहित गुणवत्तायुक्त प्रसव पूर्व देखभाल की परिकल्पना की गयी है। जिला  मातृ स्वास्थ्य सलाहकार ने बताया कि पीएमएसएमए देश में तीन करोड़ से अधिक गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व देखभाल की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए शुरू किया गया है। इस अभियान के तहत लाभार्थियों को हर महीने की नौ तारीख़ को प्रसव पूर्व देखभाल (जांच और दवाओं सहित) का न्यूनतम पैकेज प्रदान किया जाएगा।


इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नेपाल सिंह डीटीओ डॉ शिरीष जैन, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ भरत भूषण उपस्थिति रहे।