पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

पैसे मागने पर झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी: ओम कंस्टरक्शन ने कराये 25-25 हज़ार के चार चेक बाऊंस

यूरेशिया संवाददाता
मेरठ। मुंड़ाली थाना क्षेत्र के आस पास के गांव में एल एंड टी (लाजऱ्न एंड टर्बो लिमिटेड) कंपनी में ओम कंस्टरक्शन का कार्य चल रहा है, जिसमें रिज़वान चौधरी ने अपने बल पर विनीत निवासी ग्राम सौदा जिला गाजियाबाद ठेकेदार पर विश्वास करके लेबर के तौर पर कार्य करने वाले 12 आदमियों को इस काम पर लगाया हुआ था और उनको सामान व मजदूरी के पैसे भी अपने पास से ही दिये थे। पीडि़त रिजवान ने बताया कि उसकी कुल लागत 2,30,000 हुई। जिसमें ओम कंस्टरक्शन ने एक लाख के अलग अलग तारीखों के चेक दिये थे, जो कि पूरी तरह से बाऊंस हो गये।
रिज़वान चौधरी ने बताया कि जब मैंने चेक बाऊंस होने की बात ओम कंस्टरक्शन को बताई तो, उसने मुझे धमकी देते हुए कहा कि तूने चेक बैंक में लगाए ही क्यों थे, जबकि चेक पर तारीख़ लिखी हुई है, रिज़वान ने बताया कि मैंने चेक तारीख़ पर ही लगाये थे, इसमें मेरा कोई दोष नहीं है। आरोप लगाया कि ओम कंस्टरक्शन से जब भी मैं अपने पैसों की मांग करता हूँ तो मुझे धमकियां देता है और पुलिस का डर दिखा कर ये कहता है कि तुमने मेरे साथ फर्ज़ीवाडा किया है। जबकि मैंने एसा कोई भी काम नहीं किया है।
रिज़वान चौधरी ने बताया कि मैंने ओम कंस्टरक्शन की रिपोर्ट थाना मुंडाली में भी दर्ज कराई है, लेकिन पुलिस भी इस पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं कर रही है,जिसके चलते वह मुझे फोन करके लगातार जान से मारने और झूठे मुकदमे में फसाकर जेल भिजवाने की धमकियां दे रहा है।
वहीं इस सम्बंध में थानाध्यक्ष मुंडाली विनोद कुमार ने बताया कि इसमें पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर सकता क्योंकि चेक बाउंसिंग के मामले मेंं अदालत में वाद दायर किया जाता है



 रिजवान को दिया हुआ चैक।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां