केनरा बैंक(पूर्व सिंडिकेट) की ब्रांच का हुआ शुभारंभ

Image
फोटो परिचय:-शुभारंभ करते हुए रीजनल मैनेजर देवराज सिंह  डॉ असलम यूरेशिया बहसूमा। नगर के हसापुर रोड पर केनरा बैंक सिंडिकेट की ब्रांच स्थानांतरण करने के बाद शुभारंभ किया गया। शुभारंभ करने के बाद रीजनल मैनेजर देवराज सिंह ने कहा कि केनरा बैंक की नई जगह ब्रांच खोलने से ग्राहकों को परेशानी का सामना करना नहीं पड़ेगा। आसानी से अपना पैसा जमा या निकाल सकते हैं। अलग-अलग जमा करने एवं निकालने की डेक्स बनाई गई है। जिससे ग्राहकों को आसानी से पैसा जमा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 114 वर्ष पूर्व हमारे संस्थापक अंबेबल सुब्बाराव पई मंगलूर कर्नाटक में एक संस्थान की न्यू रखी गई जो कि आज भारत के प्रमुख वाणिज्यिक बैंकों में से एक है और 1910 में केनरा बैंक के रूप में पल्लवित हुआ। उन्होंने कहा कि सुब्बाराव पई एक महान मानव प्रेमी होने के साथ-साथ समाजसेवी भी थे। जिनके विचारों में एक अच्छा बैंक ने केवल समाज का वित्तीय हृदय होता है। उन्होंने कहा कि केनरा बैंक की 10403 शाखाएं और 13406 एटीएम जो 8.48.00.000 लोगों से ज्यादा बढ़ते आधार की सभी जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। विदेश में बैंक की 8 शाखाएं हैं। डिविजनल मैनेजर अनुर

पारिवारिक झगड़े में पति ने की आत्महत्या:  चार दिन पहले पत्नी बच्चों के साथ चली गई थी मायके

यूरेशिया संवाददाता
मेरठ। कंकरखेड़ा क्षेत्र खड़ौली गांव में पारिवारिक झगड़े में एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है। उसकी पत्नी चार दिन पहले तीनों बच्चों संग मायके में चली गई थी। सोमवार सुबह पुलिस ने शव मोर्चरी पहुंचा दिया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।
खड़ौली निवासी 30 वर्षीय ओमपाल की शादी खजूरी निवासी मीना पुत्री किरणपाल से हुई थी। दंपती के तीन बच्चे सोनित 8, पुनीत 6 और निमोली 3 वर्षीय हैं। दंपती स्पोर्टस का सामान ठेके पर बनाने का काम करता है। पुलिस की मानें तो दंपती के बीच पारिवारिक झगड़ा काफी समय से चल रहा था। जिसके चलते 28 फरवरी को पत्नी मीना बच्चों संग मायके चली गई थी। ओमपाल ने उसे कई बार आने को फोन किया, मगर वहीं नहीं आई।  परिजनों सुबह ओमपाल जब उसे आवाज दी तो कमरे से कोई जबाव नहीं आया। परिजन कमरे तक पहुंचे तो दरवाजा अंदर से बंद था। खिड़की में देखा तो ओमपाल का शव फंदे पर लटका हुआ था। चीख पुकार के बीच पड़ोसी जमा हो गए। परिजनों का रोकर बुरा हाल था। इंस्पेक्टर बीएस राणा ने बताया कि दंपती में पारिवारिक झगड़ा चल रहा था, जिसके चलते पति ने आत्महत्या की है।
पुलिस की मुताबिक, ओमपाल ने रविवार रात में अपनी पत्नी और साले को फोन कर मरने की बात कही थी। मगर, उसके बाद भी पत्नी ने अपने वह घर वापस नहीं आई। उसके बाद साले ने मृतक का भाई मनोज को फोन कर मरने वाली बात बताई। मनोज और परिजनों ने ओमपाल को समझाकर शांत किया, जिस पर वह रात 12:30 बजे कमरे में सोने चला गया था।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां