पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

मानसिक स्वास्थ्य टीम ने लगाया ‘दवा से दुआ तक’ शिविर



  • शिविर में 11 व गैरसंचारी रोग 73 लोग उपचार कराने आये


 यूरेशिया संवाददाता


नोएडा, 29 फरवरी 2020। भंगेल स्थित शिव सांई शनिधाम मंदिर परिसर में स्वास्थ्य विभाग की मानसिक स्वास्थ्य एवं गैर संचारी रोग की टीम ने शनिवार को दुआ से दवा तक शिविर लगाया।  शिविर में आये लोगों को मानसिक रोगों के कारण और लक्षण, बचाव व उपचार के बारे में जानकारी दी गयी।


शिविर में लोगों को डिप्रेशन, चिंता, सिजोफेनिया, बाईपॉलर डिसआर्डर, मंद बुद्धि व अन्य मानसिक रोगों के बारे में बताया गया। लोगों को यह भी बताया गया कि मानसिक बीमारियों का उपचार भी शारीरिक बीमारियों के उपचार की तरह ही संभव है। यह लाइलाज बीमारी नहीं है। शिविर के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया कि मानसिक बीमारी में केवल दुआ से काम नहीं चलेगा। दुआ के साथ-साथ दवा भी जरूरी है। मानसिक स्वास्थ्य टीम ने बताया कि मन दुखी रहना, आत्महत्या का विचार आना, शक-वहम करना, अनावश्यक घबराहट होना, बेचैनी होना, लगातार सिर में दर्द रहना आदि मानसिक रोगों के लक्षण हो सकते हैं। यदि कोई इस तरह की परेशानी महसूस करता है तो उसे तुरंत मानसिक स्वास्थ्य की टीम से संपर्क करना चाहिये। नोएडा सेक्टर 30 स्थित जिला अस्पताल में हर सोमवार, मंगलवार व गुरूवार को मानसिक स्वास्थ्य ओपीडी होती है। लोगों को मिर्गी की बीमारी के बारे में भी बताया गया कि यह लाइलाज बीमारी नहीं है। नियमित इलाज से यह ठीक हो जाती है। शिविर में लोगों को मंदबुद्धि प्रमाण पत्र की भी जानकारी दी गयी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में मंद बुद्धि प्रमाणपत्र बनाए जाते है। शिविर में 11 मानसिक रोग से ग्रसित लोग उपचार कराने आये। जिन लोगों को दवा की जरूरत थी उन्हें दवा दी गयी और जिन्हें काउंसलिंग की जरूरत थी उनकी काउंसलिंग की गयी।


शिविर में गैर संचारी रोग की टीम ने भी लोगों के बीपी, शुगर की जांच की। शिविर में 73 लोग अपनी जांच कराने आये। लोगों को चिकित्सकों ने बताया कि नियमित व्यायाम और पैदलचल कर इन बीमारियों से बचा जा सकता है। जिन लोगों को शुगर और बीपी की समस्या थी उन्हें समय-समय पर जांच कराने की सलाह दी गयी। कुछ मरीजों को इलाज के लिए जिला अस्पताल रैफर किया गया।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां