केनरा बैंक(पूर्व सिंडिकेट) की ब्रांच का हुआ शुभारंभ

Image
फोटो परिचय:-शुभारंभ करते हुए रीजनल मैनेजर देवराज सिंह  डॉ असलम यूरेशिया बहसूमा। नगर के हसापुर रोड पर केनरा बैंक सिंडिकेट की ब्रांच स्थानांतरण करने के बाद शुभारंभ किया गया। शुभारंभ करने के बाद रीजनल मैनेजर देवराज सिंह ने कहा कि केनरा बैंक की नई जगह ब्रांच खोलने से ग्राहकों को परेशानी का सामना करना नहीं पड़ेगा। आसानी से अपना पैसा जमा या निकाल सकते हैं। अलग-अलग जमा करने एवं निकालने की डेक्स बनाई गई है। जिससे ग्राहकों को आसानी से पैसा जमा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 114 वर्ष पूर्व हमारे संस्थापक अंबेबल सुब्बाराव पई मंगलूर कर्नाटक में एक संस्थान की न्यू रखी गई जो कि आज भारत के प्रमुख वाणिज्यिक बैंकों में से एक है और 1910 में केनरा बैंक के रूप में पल्लवित हुआ। उन्होंने कहा कि सुब्बाराव पई एक महान मानव प्रेमी होने के साथ-साथ समाजसेवी भी थे। जिनके विचारों में एक अच्छा बैंक ने केवल समाज का वित्तीय हृदय होता है। उन्होंने कहा कि केनरा बैंक की 10403 शाखाएं और 13406 एटीएम जो 8.48.00.000 लोगों से ज्यादा बढ़ते आधार की सभी जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। विदेश में बैंक की 8 शाखाएं हैं। डिविजनल मैनेजर अनुर

भेदभाव की राजनीति कर रही है भाजपा: किशोर



  • सपा कार्यकर्ताओं ने कई समस्याओं को लेकर उप जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा


यूरेशिया संवाददाता


मवाना-शुक्रवार को सपा नेता किशोर टांक के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ता उप जिला अधिकारी ऋषिराज सिंह से मिले। उन्होंने पिछले दिनों हस्तिनापुर विधानसभा की विभिन्न घटनाओं से अवगत कराया। सभी पीड़ितों को आर्थिक मदद दिलाने की मांग की। किशोर टांक ने बताया कि हस्तिनापुर विधानसभा के ग्राम खटकी के सामने 29 फरवरी को दो बाइकों की आमने-सामने की टक्कर में एक ही परिवार की गुलशन पत्नी नसीम, राशिद पुत्र शाहबुद्दीन, शावेज पुत्र शाहबुद्दीन निवासी झब्बापुरी एव राजा पुत्र सुरेंद्र निवासी कुआं खेड़ा की मौत हो गई थी। वही 8 मार्च को दुर्वेशपुर निवासी टाटे पुत्र संतु का कच्चा मकान पिछले दिनों आई बारिश के बाद गिर गया था। जिसमें पूरा परिवार दब गया था। सभी को गंभीर चोट आई है। परिवार का एकमात्र जीविका का सहारा उसकी एक भैंस की मौके पर ही मौत मर गई थी। परंतु इतनी बड़ी घटना होने के बाद शासन और प्रशासन के किसी व्यक्ति ने पीड़ित परिवार की सुध नहीं ली। सपाइयों ने आरोप लगाया कि क्षेत्रीय विधायक भी पीड़ितों की सुध नहीं ले सके और ना ही लोगों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार में किसी भी गरीब की मदद या आर्थिक मदद नहीं की जा रही है। सरकार भेदभाव जात पात की राजनीति कर रही है। चारों तरफ लूट, डकैती, रेप, हत्या महिलाओं पर अत्याचार की घटनाये, किसान, नौजवान, मजदूर, व्यापारी सभी परेशान है। आने वाले 2022 के विधान चुनाव में सभी धर्मों के लोग बीजेपी को मुंहतोड़ जवाब देकर समाजवादी पार्टी कि सरकार बनाएंगे।इस मौके पर कासिम जैदी, मोनू पवार, संदीप जाटव, अनिल वर्मा, इलियास पहलवान, रईस आजम मलिक आदि ने उप जिला अधिकारी मवाना को ज्ञापन देते हुए उक्त समस्याओं के समाधान की मांग की। दूसरी ओर फल विक्रेता इरफान पुत्र इकराम के साथ कुछ बदमाशों द्वारा जानलेवा हमले के मामले में भी सपा कार्यकर्ताओं ने उप जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर कार्यवाही कराने की मांग की।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां