कुत्ते राकेश की मौत, पुलिसकर्मियों ने कुत्ते की अंतिम यात्रा निकाली

Image
मेरठ  ( युरेशिया)  । कमिश्नरी चौराहे पर आज अनोखा नजारा सामने देखने को मिला। एक कुत्ते की मौत के बाद गमगीन पुलिसकर्मियों ने उसकी अंतिम यात्रा निकाली और और उसे सुपुर्द ए खाक भी किया । कुत्ता कोरोना काल से मेरठ कमिश्नरी चौराहे पर तैनात पुलिसकर्मियों और पीएससी के जवानों के साथ रहता था । कुत्ते का मालिक राकेश उसे कोरोना की शुरुआती दौर में कमिश्नरी चौराहे पर छोड़ कर चला गया था ,पुलिस वालों ने उसकी देखभाल की,और उस कुत्ते का नाम भी राकेश रख दिया गया । तबसे राकेश पुलिसवालों के साथ ही रहता था । पुलिसवाले इसे अपना साथी मानकर प्रेम से साथ रखते थे । लेकिन बीमारी के चलते आज राकेश की मौत हो गई । मेरठ के कमिश्नरी चौराहे पर पीएसी के जवानों के साथ रहने वाला बेजुबान कुत्ता जिसका नाम राकेश था आज उसकी बीमारी के चलते मौत हो गई, उसकी मौत से पुलिसकर्मी गमगीन हो गए सुबह जब पीएसी के जवान अपनी डयूटी पर पहुंचे थे तो राकेश जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा था और कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई ,पीएसी के जवानों ने राकेश की अंतिम यात्रा निकाली और उसे कमिश्नरी पार्क में ही गढ्ढे में दफना दिया । राकेश पिछले कई दिनों बीमारी से जू

नई तकनीक की किसानों को देंगे जानकारी

यूरेशिया संवाददाता
मेरठ। शोभित इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी डीम्ड यूनिवर्सिटी ग्लोबल आउटरीच रिसर्च एंड एजुकेशन एसोसिएशन एवं सोसायटी फॉर प्लांट रिसर्च के साथ संयुक्त रूप से मार्डन अप्रोच फॉर स्मार्ट एग्रीकल्चर विषय पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन हुआ।
कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि कुलाधिपति कुंवर शेखर बिजेन्द्र, विशिष्ट अतिथि चौ. चरण सिंह विवि के कुलपति प्रो. एनके तनेजा, शेरे कश्मीर यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर साइंस एंड टेक्नोलॉजी के कुलपति प्रो. आरके गुप्ता ने किया। मुख्य अतिथि ने कहा कि आज किसान फसलों के साथ शिक्षा की बात भी कर रहा है। उन्होंने देश के किसानों को स्मार्ट एग्रीकल्चर का अर्थ समझाते हुए कहा कि वह किसानों को किसानी के नए तरीके बताएंगे। इससे खेती करना सरल होगा और किसानों की आय भी बढ़ेगी। विशिष्ट अतिथियों ने देश की अर्थव्यवस्था पर चर्चा करते हुए इसमें खेती की भागीदारी पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम कुलपति प्रो. एपी गर्ग ने विवि की विशेषताओं व उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने किसानों की आय को दोगुना करने का उपाय फसल की कीमत उसकी लागत से दोगुनी रखना बताया। कहा कि उत्पादन बढ़ाने से समस्या का समाधान नहीं होगा, बल्कि फसल की कीमत और कम हो जाएगी। उन्होंने किसानों को मछली पालन के साथ डेरी लगाने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान प्रसिद्ध वैज्ञानिक डॉ. मनोज नाजिर ने फूलों की खेती कर किसान की आय बढ़ाने की जानकारी दी। इस मौके पर विवि ने डॉ. मनोज नाजिर के साथ छात्रों को प्रशिक्षण देने के लिए एक एमओयू भी साइन किया। श्रीलंका के सांसद एम मोहम्मद इस्माईल ने स्मार्ट फार्मिंग पर व्याख्यान दिया। इस दौरान प्रो. शमशेर सिंह, प्रो. एमेरिटस, प्रो. एम मोनी ने डिजिटल लाज एग्रीकल्चर सिस्टम, स्मार्ट ट्राइ इरिगेटेड फार्मिंग विषय पर जानकारी दी। मुख्य वक्ता प्रो. एके चौबे ने मिट्टी के जीवाणू के ऊपर प्रयोग कर बीमारियों की जानकारी दी। साथ ही इनके बचाव के उपाय भी बताए। कार्यक्रम में प्रो. एनके तनेजा, प्रो. आरके गुप्ता, दामोदर गुप्ता, डा. मनोज नाजिर, सत्येन यादव, प्रो. एसके भटनागर, प्रो. शमशेर सिंह, प्रो. एमेरिटस को लाइफ टाइम अवार्ड से सम्मानित किया गया। छात्रों ने विभिन्न विषयों पर पोस्टर प्रोजेक्ट किए। उपकुलपति रि. मेजर जनरल डॉ. सुनील चंद्रा ने सम्मेलन की विशेषताओं पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन मनोचिकित्सक प्रो. पूनम देवदत्त ने किया। मौके पर डॉ. सत्यप्रकाश, डॉ. संदीप, मीडिया प्रभारी डॉ. अभिषेक, डॉ. माया दत्त जोशी, रूपेश कुमार, गौरव यादव, डॉ. अमित, डॉ. सौरभ त्यागी आदि रहे।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां