राष्ट्रगान में बदलाव के लिए सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को लिखा पत्र, ट्विटर पर लिखा ये पोस्ट

नई दिल्लीः बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राष्ट्रगान में बदलाव के लिए पीएम मोदी को पत्र लिखा है. स्वामी ने पीएम मोदी को भेजे गए इस पत्र को ट्विटर पर भी शेयर किया है. उन्होंने खत में कहा है कि राष्ट्रगान 'जन गण मन...' को संविधान सभा में सदन का मत मानकर स्वीकार कर लिया गया था. उन्होंने आगे लिखा है, 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा के आखिरी दिन अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद ने बिना वोटिंग के ही 'जन गण मन...' को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार कर लिया था. हालांकि, उन्होंने माना था कि भविष्य में संसद इसके शब्दों में बदलाव कर सकती है. स्वामी ने लिखा है कि उस वक्त आम सहमति जरूरी थी क्योंकि कई सदस्यों का मानना था कि इस पर बहस होनी चाहिए, क्योंकि इसे 1912 में हुए कांग्रेस अधिवेशन में ब्रिटिश राजा के स्वागत में गाया गया था.

लिंग परीक्षण करने वाले अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों पर होगी कड़ी कार्यवाही-डीएम


यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। प्रदेश व जनपद में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान तथा संचारी रोगों एवं दिमागी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण के लिए आगामी 1 मार्च से 31 मार्च 2020 तक अभियान चलाया जायेगा। जिसमें विभिन्न विभागों को महत्वपूर्ण दायित्व व कार्य निर्धारित किये गये है। बचत भवन में आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुये जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने यह जानकारी दी। उन्होने कहा कि परस्पर विभागीय समन्वय व कार्ययोजना बनाकर अभियान को सफल बनाया जाये तथा आमजन को अभियान से जोड़ा जाये। उन्होने कहा कि लिंग परीक्षण करने वाले अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने सरकार की मुखबिर योजना का सदुपयोग करने के लिए कहा।
जिलाधिकारी ने बताया कि आगामी 2 मार्च से 8 मार्च 2020 के मध्य ब्लॉक चिकित्सालय पर आशा, एएनएम तथा आंगनबाडी कार्यकत्रियों का संवेदीकरण कार्यक्रम चलाया जायेगा तथा 16 मार्च से 31 मार्च 2020 तक आषा कार्यकत्रियों द्वारा घर-घर जाकर भ्रमण कर आमजन को जागरूक किया जायेगा। उन्होने पीसीपीएनडीटी के कार्यों की समीक्षा करते हुये कहा कि लिंग परीक्षण करने वाले अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों के विरूद्ध कडी कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। उन्होने कहा कि मुखबिर योजना का उपयोग कर ऐसे अल्ट्रासाउण्ड केन्द्रों को चिन्हित किया जाये।
मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन ने कहा कि नगर विकास विभाग उथले हैण्ड पम्पों का प्रयोग करने से उन्हें लाल रंग से चिन्हित करेगा तथा खुली नालियों को ढकने की व्यवस्था तथा कचरे की सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। सडको के किनारें उगी वनस्पतियों को हटवाया जायेगा तथा खराब हैण्ड पम्पो की मरम्मत करायी जायेगी। उन्होने बताया कि ग्रामों में प्रधानों को अभियान का नोडल बनाया गया है तथा ग्राम स्तर पर साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जायेगी।
मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन ने बताया कि आंगनबाडी कार्यकत्रियों को संचारी रोगो तथा दिमागी बुखार हेतु प्रशिक्षण प्रदान कर संवेदीकरण किया जायेगा ताकि वह अपने क्षेत्र के समस्त कुपोषित तथा अति कुपोषित बच्चों की सूची बनाकर उनको उचित पोषटाहार उपलब्ध करायेगी। उन्होने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा बच्चों को संचारी रोगों के प्रति जागरूक किया जायेगा। इसी प्रकार चिकित्सा विभाग द्वारा भी फोगिंग करायी जायेगी तथा जनमानस को जागरूक करने के लिए रैली का आयोजन भी कराया जायेगा।
इस अवसर पर जिला महिला चिकित्सालय की प्रमुख अधीक्षिका, एसीएमओ डा. एसके शर्मा, जनपद के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों के चिकित्सा अधीक्षक सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां