केनरा बैंक(पूर्व सिंडिकेट) की ब्रांच का हुआ शुभारंभ

Image
फोटो परिचय:-शुभारंभ करते हुए रीजनल मैनेजर देवराज सिंह  डॉ असलम यूरेशिया बहसूमा। नगर के हसापुर रोड पर केनरा बैंक सिंडिकेट की ब्रांच स्थानांतरण करने के बाद शुभारंभ किया गया। शुभारंभ करने के बाद रीजनल मैनेजर देवराज सिंह ने कहा कि केनरा बैंक की नई जगह ब्रांच खोलने से ग्राहकों को परेशानी का सामना करना नहीं पड़ेगा। आसानी से अपना पैसा जमा या निकाल सकते हैं। अलग-अलग जमा करने एवं निकालने की डेक्स बनाई गई है। जिससे ग्राहकों को आसानी से पैसा जमा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 114 वर्ष पूर्व हमारे संस्थापक अंबेबल सुब्बाराव पई मंगलूर कर्नाटक में एक संस्थान की न्यू रखी गई जो कि आज भारत के प्रमुख वाणिज्यिक बैंकों में से एक है और 1910 में केनरा बैंक के रूप में पल्लवित हुआ। उन्होंने कहा कि सुब्बाराव पई एक महान मानव प्रेमी होने के साथ-साथ समाजसेवी भी थे। जिनके विचारों में एक अच्छा बैंक ने केवल समाज का वित्तीय हृदय होता है। उन्होंने कहा कि केनरा बैंक की 10403 शाखाएं और 13406 एटीएम जो 8.48.00.000 लोगों से ज्यादा बढ़ते आधार की सभी जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। विदेश में बैंक की 8 शाखाएं हैं। डिविजनल मैनेजर अनुर

लालकुर्ती में गेट लगाने को लेकर सांप्रदायिक टकराव, मचा हड़कंप, कई हिरासत में

 यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। लालकुर्ती में बीती देर शाम गेट लगाने को लेकर सांप्रदायिक टकराव हो गया। सूचना मिलते ही कई थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंचा और मामले की जानकारी ली। लाठी भांजते हुए भीड़ को मौके से खदेड़ा। दोनों पक्षों के कई लोगों को पुलिस हिरासत में ले लिया। देर रात क्षेत्र के स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप पर मामले में समझौता हो गया। हालांकि, सीओ ने एहतियात के तौर पर दोनों पक्षों को देर रात तक थाने में ही बिठाए रखा।
जामुन मोहल्ला निवासी खान मोहम्मद देर शाम एक गेट लगा रहा था। सामने रहने वाले श्याम सुंदर ने इसका विरोध किया। दोनों के बीच नोकझोंक हाथापाई में बदल गई। जिसके बाद पत्थरबाजी और फायरिंग तक की गई। इस वारदात से क्षेत्र में हड़कंप मच गया। सांप्रदायिक टकराव की सूचना मिलते ही कई थानों के पुलिस बल के साथ ही सीओ कैंट हरिमोहन सिंह भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने मौके पर जुटी भीड़ को समझाने का प्रयास किया। जब वह नहीं माने तो पुलिस ने लाठी फटकार कर भीड़ को खदेड़ा। पुलिस ने दोनों पक्षों के दो-दो लोगों को हिरासत में ले लिया और क्षेत्र में फोर्स तैनात कर दी।
 जामुन मोहल्ले में सांप्रदायिक टकराव की सूचना मिलते ही बसपा नेता सुनील वाधवा, क्षेत्रीय पार्षद पति अजमल कमाल समेत कई व्यापारी नेता थाने पहुंचे। उन्होंने दिल्ली के हालातों का हवाला देते हुए दोनों पक्षों को खूब खरी-खोटी सुनाई। लोगों का दबाव बढ़ते देख दोनों पक्ष गलती का एहसास करने लगे।
थाने में भी एक बार नोकझोंक का माहौल बना, लेकिन पुलिस ने चेतावनी देकर शांत करा दिया। कई घंटे की मशक्कत के बाद दोनों पक्षों ने माफी मांगी और दोबारा विवाद न करने का भरोसा दिया। जिसके बाद समझौता हो गया। हालांकि, देर रात तक सीओ ने दोनों पक्षों को थाने में बैठाए रखा।
 एसपी सिटी एएन सिंह ने बताया कि गेट लगाने को लेकर विवाद हुआ था। कई थानों की पुलिस मौके पर भेजकर स्थिति को संभाला। माफी मांगे जाने के बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया। एहतियात के तौर पर क्षेत्र पुलिस बल तैनात किया गया है।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां