राष्ट्रगान में बदलाव के लिए सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को लिखा पत्र, ट्विटर पर लिखा ये पोस्ट

नई दिल्लीः बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने राष्ट्रगान में बदलाव के लिए पीएम मोदी को पत्र लिखा है. स्वामी ने पीएम मोदी को भेजे गए इस पत्र को ट्विटर पर भी शेयर किया है. उन्होंने खत में कहा है कि राष्ट्रगान 'जन गण मन...' को संविधान सभा में सदन का मत मानकर स्वीकार कर लिया गया था. उन्होंने आगे लिखा है, 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा के आखिरी दिन अध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद ने बिना वोटिंग के ही 'जन गण मन...' को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार कर लिया था. हालांकि, उन्होंने माना था कि भविष्य में संसद इसके शब्दों में बदलाव कर सकती है. स्वामी ने लिखा है कि उस वक्त आम सहमति जरूरी थी क्योंकि कई सदस्यों का मानना था कि इस पर बहस होनी चाहिए, क्योंकि इसे 1912 में हुए कांग्रेस अधिवेशन में ब्रिटिश राजा के स्वागत में गाया गया था.

जमीन पर अवैध कब्जे के विवाद में परिवार पर हमला, पांच घायल


चित्र में झगड़े के बाद जमा हुई भीड़


यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। सरूरपुर थाना क्षेत्र के कस्बा करनावल में खेत की ढाई बीघा जमीन को लेकर दो परिवारों के बीच संघर्ष हो गया। दोनों तरफ से जमकर लाठी डंडे चले। इस दौरान कई राउंड फायरिंग होने की भी बात भी सामने आई है। पुलिस ने पांचों घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया, जहां हालात नाजुक देख दो घायलों को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।
करनावल निवासी एक भाजपा नेता और दूसरे पक्ष के सतपाल शर्मा के बीच काफी समय से ढ़ाई बीघा खेत की जमीन को लेकर विवाद चला रहा है। एक माह पहले पहले पक्ष ने दूसरे पक्ष द्वारा बुवाई की गई गेहूं की फसल पर ट्रैक्टर चलवा दिया था। उस समय भी विवाद होने से बचा था। बाद में पुलिस ने दोनों पक्षों से एक-एक व्यक्ति का शांतिभंग में चालान कर दिया था। वहीं, थाने पहुंचे सतपाल पक्ष के लोगों ने बताया कि आरोपी पक्ष उन्होंने बार-बार जेल भिजवाने की धमकी दे रहा है। इसे लेकर दोनों पक्षों के लोगों में मारपीट हो गई। इस दौरान धारदार हथियारों के साथ जमकर लाठी डंडे चले। इसमें एक पक्ष से सतपाल पुत्र जयभगवान, अक्षय पुत्र राजकुमार तथा कपिल पुत्र सतपाल गंभीर रूप से घायल हो गए। वहीं, दूसरी ओर से पंकज तथा राजेंद्र सिंह घायल हो गए। पुलिस ने घायलों को सीएचसी में भर्ती कराया, जहां से सतपाल तथा पंकज को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस को देख आरोपी पक्ष का नेता साथियों संग मौके से फरार हो गया।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां