विकास कार्यों को तेजी के साथ समय सीमा के अन्तर्गत पूर्ण कराये : जिलाधिकारी



  • जिलाधिकारी ने अधिकारियों के साथ की विकासकार्यो की समीक्षा

  • जिला स्तरीय अधिकारी स्कूलों का करे निरीक्षण

  • जनपद में चल रहे समस्त कार्य गुणवत्ता पूर्ण होने चाहिए


विश्व बंधु शास्त्री
बागपत-- 14 जनवरी। जिलाधिकारी शकुन्तला गौतम  ने आज विकास भवन सभागार में विकास कार्यो की समीक्षा करते हुए अधिकारियो को निर्देश दिये कि शासन की मंशा के अनुरूप कार्य किया जाये। उन्होने कहा कि विकास कार्याे मे किसी भी प्रकार की शिथिला पर कडी कार्यवाही होगी। सभी अधिकारी केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की संचालित सभी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुचाना सुनिश्चत करे। उन्होने कहा कि ग्राम वासियों को बिजली की आपूर्ति, पेयजल एवं अन्य सभी आवश्यक बुनियादी सुंविधाएं उपलब्ध कराई जाये। उन्होने निर्देश दिये कि शासन की जो कल्याणकारी योजनाए चल रही है उनकी प्रगति से अवगत कराया जाये। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी से, प्रधानमंत्री मातृवन्दना योजना, आयुषमान योजना, कन्या सुमंगला योजना, सीएचसी व पीएचसी में सर्दी के दृष्टिगत कम्बलों व अलाव की व्यवस्था, डाक्टरों की उपलब्धता एवं दवाईयो की उपलब्धता के सम्बन्ध में समीक्षा की। जिन गांव में आयुष्मान योजना के अंतर्गत अन्य स्थिति और गांव की सूची निकाल कर उनका कैंप लगवाए जाएं ।जिलाधिकारी ने पंचायत राज विभाग की विभाग की समीक्षा की उन्होंने का जो इज्जतघर बनाए गए हैं उनका सत्यापन कर लिया जाए कि इज्जत घर का इस्तेमाल हो रहा है या नहीं खाद के गड्ढे खुदबाय जाएं जीपी डीपी की ऑनलाइन कराएं। उन्होंने कहा कायाकल्प योजना के अंतर्गत स्कूलों की बाउंड्री बनाई जाए प्रकाश व्यवस्था की व्यवस्था शौचालय बने हुए हो और राम की व्यवस्था भी होनी चाहिए उनका गोवंश आस्था स्थल की साफ-सफाई व ठंड में कोई भी गोवंश नही हो। सेवियो चिकित्सा व्यवस्था पर्याप्त होनी चाहिए कोई भी गोवा सड़क पर नहीं दिखाई देना चाहिए गौशाला में ही गोवंश को रखा जाए दिए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने शिक्षा विभाग को निर्देश दिए कि मिड डे मील की गुणवत्ता चयन किया जाए 15 से 20 अध्यापकों का प्रतिदिन खंड शिक्षा अधिकारी निरीक्षण करें ।और जिला स्तरीय अधिकारी भी  आते जाते समय अपने रूट के स्कूलों का निरीक्षण अवश्य करें।
जिलाधिकारी ने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि विकास कार्यो मे किसी भी प्रकार की शिथिलता बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होने कहा कि शासन की मंशा के अनुरूप सभी अधिकारी शासन द्वारा संचालित समस्त  योजनाओं का लाभ समाज के पात्र व्यक्तियों तक पहुंचायें। जिलाधिकारी द्वारा पेंशन योजनाओ की भी समीक्षा की गयी। उनहोने निर्देश दिये कि योजनाओं में प्राप्त आवेदन पत्रांे का सत्यापन करा लिया जाये इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाये। उन्होने विधवा पेशन, विकलांग पेशन, वृद्वावस्था पेशन व छात्रवृत्ति की समीक्षा की। उन्होने निर्देश दिये कि सभी पात्रों को आवेदन कराकर योजना का लाभ दिया जाना सुनिश्चित करे। उन्होने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मनरेगा तथा राशन वितरण की भी समीक्षा की।  उन्होने पाईप पेय जल योजना की समीक्षा करते हुए कडे निर्देश दिये कि पाईप पेय जल योजनाओ को सुचारू रूप से संचालित किया जाये। उनहोनेक कहा कि जो पेय जल योजना किन्ही कारणो से बन्द है उन्हे ठीक कराकर चालू कराया जाये। इसमे किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाये। जिलाधिकारी ने कृषि उपनिदेशक से वर्मी कंपोस्ट के कार्य में तीव्रता लाए जाने के निर्देश दिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से संबंधित शासन को पत्र लिखने के भी निर्देश दिए गए कृषि विभाग से  खाद्य बीज वितरण कम होने पर नाराजगी व्यक्त की ।
इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने जनपद में चल रही 50 लाख रूपये से ऊपर की परियोजनाओ के निर्माण कार्याे को शीघ्र पूर्ण कराने, शासन द्वारा आवंटित धनराशि के प्रयोग व यूसी भेजे जाने के निर्देश कार्यदायी संस्थाआंे को दिये। उन्होंने निर्माणधिन गोसंरक्षण केंद्र सरूरपुर के निर्माण कार्य से नाराजगी व्यक्त किया उसमें सुधार करने के निर्देश दिए।
 इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पी सी जायसवाल, डीडीओ, कृषि उपनिदेशक  सहित सभी जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट