सिपाही की गोली मारकर हत्या, जंगल में मिला शव


  • छुट्टी लेकर आया हुआ था घर, ससुरालियों से चल रहा था विवाद


 यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। मवाना में छुट्टी पर आए सिपाही की गोली मारकर हत्या कर दी गई। सिपाही का शव गोली लगी हालत में गांव के बाहर जंगल में मिला। सिपाही की हत्या की सूचना पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।



सिपाही आशीष का फाइल फोटो।
मवाना थाना क्षेत्र के गांव खेड़ी मनिहार निवासी 28 वर्षीय आशीष कुमार पुत्र संजीव चौधरी 2011 में यूपी पुलिस में सिपाही के पद पर भर्ती हुआ था। इस समय सिपाही की शामली स्थित पुलिस लाइन में तैनाती थी। पुलिस के अनुसार पांच वर्ष पूर्व उसकी शादी गांव भराला निवासी पारुल के साथ हुई थी। छह माह पूर्व पारूल के मायकेवालों ने आशीष व परिजनों के खिलाफ दहेज उत्पीडन व मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया था। बाद में 22 लाख रुपये में समझौता हो गया था। मंगलवार को दोनों में लिखित समझौता होना था। आशीष इसी के लिए दो दिन की छुटटी लेकर आया था। मंगलवार सुबह वह घर से अपने खेत पर देवता पूजने गया था। इस बीच खेत में सिपाही की गोली मारकर हत्या कर दी गई। सिपाही के कनपटी पर गोली लगी हुई मिली है। चप्पल भी वहीं पर पड़ी मिली। हत्या की जानकारी मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। ग्रामीणों की मौके पर भीड़ जुट गई। मौके पर इंस्पेक्टर मवाना विनय कुमार आजाद मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली।
एसपी देहात अविनाश पांडे का कहना है की अभी तक की जांच में सामने आया है की रंजिश के चलते सिपाही की हत्या की गई है। सिपाही का तलाक का समझौता होना था 22 लाख रुपए में समझौता तय भी हो चुका था। कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। जल्दी घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट