थाना मवाना पुलिस द्वारा मात्र तीन घण्टे में घर से लापता बच्चा बरामद किया

Image
डॉ0 असलम/युरेशिया मवाना। धनवीर पुत्र विक्रम नि0 कौल थाना मवाना जनपद मेरठ द्वारा सूचना दी गयी कि उनका 14 वर्षीय पुत्र जो स्प्रिंग डेल स्कूल में पढता है घर से स्कूल गया था और वापस घर नही आया है तथा उसके मो0नं0 9528655319 से अपने छोटे भाई अमित के फोन पर व्हाटसअप मैसेज किया गया कि, मैं जा रहा हूँ अब कुछ बनकर ही घर वापस आऊँगा । मुझे तलाश करने की कोशिश मत करना । घर वालो ने किसी अनहोनी की आशंका प्रकट की है और बताया कि हमारा लड़का इस तरह से मैसेज नही कर सकता है । इस सूचना पर थाने से टीम गठित की गयी तथा सर्विलांस सैल की मदद ली गयी । प्राप्त मोबाइल नम्बर की लोकेशन से जो टॉवर लोकेशन मिली थी पुलिस द्वारा आसपास के गांव के जंगल व ट्यूबवैल तथा खाली पडे मकानो में टीम बनाकर ढूंढवाया गया । तो लगभग 3 घण्टे के अथक प्रयास के बाद लडके को कौल गांव के जंगल से सकुशल ढूंढ निकाला गया । पूछने पर लड़के ने बताया कि मेरे टीचर ने प्रोजेक्ट दिया था और मैं उसे पूरा नही कर पाया जिसके कारण मैं स्कूल न जाकर अपने घर से भाग गया था । मुझे डर था कि मेरे पिता मुझे मारेगें । इसलिए मैंने इस प्रकार के मैसेज किये थे ।

कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग का अलर्ट


  • जिला व मेडिकल कालेज अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड बनाये


 यूरेशिया संवाददाता


मेरठ । राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के तीन संदिग्ध मरीज मिलने के बाद जनपद में स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सर्तक हो गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी सीएमओ मेडिकल कालेज में आइसोलेशन वार्ड बनाये गये हैं। इसके अतिरिक्त जिला अस्पताल व मेडिकल कालेज में बचाव व इलाज के विशेष इंतजाम किये गये हैं। विशेषज्ञ चिकित्सकों को भी अलर्ट कर दिया गया है।
    सीएमओ ने बताया प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य देवेश चतुर्वेदी ने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव-उपचार व रोकथाम के लिए सभी बड़े चिकित्सा संस्थानों को अलर्ट किया है। उन्होंने मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनने, दवा रखने, चिकित्सक व स्टाफ के प्रयोग में आने वाली सामग्री की व्यवस्था करने के निदेँश दिये हैं। एडवाइजरी को देखते हुए प्यारे लालअस्पताल व लाल लाजपत राय मेडिकल कालेज अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड बनाये गये हैं। उन्होंने बताया यहां अभी तक कोई संदिग्ध नहीं मिला है। विदेश से आने वाले लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है। अगर कोई भी संदिग्ध मरीज आता है तो उसका इलाज किया जाएगा। जिला अस्पताल व मेडिकल कालेज में कंट्रोल रूम बनाया गया है। जो 24 घंटे कार्य करेगा। इसके लिये अलग
-अलग शिफ्ट में कर्मचारियों की ड्यूटी लगायी गयी है। कर्मचारियों को मास्क उपलब्ध करा दिये गये हैं। सेंपल कलेक्शन किट वार्ड में उपलब्ध है। जिले की एम्बुलेंस सेवा 108 व 102 को सचेत कर दिया गया। उन्होंने बताया  प्राइवेट अस्पतालों को दिशा निर्देश दिये गये हैं कि अगर कोई भी संदिग्ध मरीज आता है तो तत्काल उसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दी जाए। डाण् राजकुमार ने बताया छींक आनाए नाक से पानी बहनाए निमोनियाए गला खराब होना, सांस लेने में दिक्क्त कोरोना वायरस के लक्षण हैं।
  जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक सीएमएस  डा पी के बसंल ने बताया कोरोना वायरस के फैलाव को देखते हुए जिला अस्पताल पूरी तरह तैयार है। इसके लिये आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। जिसमें 10 बेड हैं। वार्ड में उपचार के विशेष प्रबंध किये गये हैं। विशेषज्ञ चिकित्सकों को सतर्क कर दिया गया है। अगर कोई भी मरीज कोराला वायरस का आता है तो अटेनडेंट को आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा।
 इनसे बचें:- 
 उन्होंने बताया किसी भी प्रकार का पेय पदार्थ कोल्ड ड्रिंक्स, आइस क्रीम, कुल्फी, आदि खाने से बचें। किसी प्रकार का डिब्बा बंद भोजन, पुरानी बर्फ का गोला, सील बंद दूध तथा दूध से बनी मिठाई जो 48 घंटे से पहले की बनी हो उसे खाने से बचें। कोरोना वायरस से बचने के लिये अपने हाथ को साबुन से या गर्म पानी से धोयें। खांसते,छींकते वक्त नाक और मुंह को किसी टिशू पेपर या रूमाल से ढकें।


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव