थाना मवाना पुलिस द्वारा मात्र तीन घण्टे में घर से लापता बच्चा बरामद किया

Image
डॉ0 असलम/युरेशिया मवाना। धनवीर पुत्र विक्रम नि0 कौल थाना मवाना जनपद मेरठ द्वारा सूचना दी गयी कि उनका 14 वर्षीय पुत्र जो स्प्रिंग डेल स्कूल में पढता है घर से स्कूल गया था और वापस घर नही आया है तथा उसके मो0नं0 9528655319 से अपने छोटे भाई अमित के फोन पर व्हाटसअप मैसेज किया गया कि, मैं जा रहा हूँ अब कुछ बनकर ही घर वापस आऊँगा । मुझे तलाश करने की कोशिश मत करना । घर वालो ने किसी अनहोनी की आशंका प्रकट की है और बताया कि हमारा लड़का इस तरह से मैसेज नही कर सकता है । इस सूचना पर थाने से टीम गठित की गयी तथा सर्विलांस सैल की मदद ली गयी । प्राप्त मोबाइल नम्बर की लोकेशन से जो टॉवर लोकेशन मिली थी पुलिस द्वारा आसपास के गांव के जंगल व ट्यूबवैल तथा खाली पडे मकानो में टीम बनाकर ढूंढवाया गया । तो लगभग 3 घण्टे के अथक प्रयास के बाद लडके को कौल गांव के जंगल से सकुशल ढूंढ निकाला गया । पूछने पर लड़के ने बताया कि मेरे टीचर ने प्रोजेक्ट दिया था और मैं उसे पूरा नही कर पाया जिसके कारण मैं स्कूल न जाकर अपने घर से भाग गया था । मुझे डर था कि मेरे पिता मुझे मारेगें । इसलिए मैंने इस प्रकार के मैसेज किये थे ।

ग्राम प्रधान संगठन की आंदोलन की चेतावनी

यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम आसिफाबाद के प्रधान पुत्र की हत्या में राष्ट्रीय पंचायतीराज ग्राम प्रधान संगठन के कार्यकर्ताओं ने पीडि़त प्रधान के निवास पर पहुंचकर सांत्वना दी। वहीं, आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की। उन्होंने चेतावनी कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो संगठन आंदोलन करने के लिए मजबूर होगा।
ग्राम आसिफाबाद के प्रधान लोकेश गिरी के पुत्र मयंक की शादी बीती तीन मार्च को शिल्पी उर्फ चंद्रिका से हुई थी। मयंक बागपत बाईपास स्थित एक होटल में कार्यरत था। शादी के आठ दिन बाद मयंक जागृति विहार मेरठ में पत्नी के साथ रह रहा था। तीन दिन पूर्व मयंक एवं उसकी पत्नी ने रहस्यमय हालात में जहर खा लिया था। जिसके चलते आसपास के लोगों ने उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। यहां मयंक की मौत हो गई थी। वहीं, पत्नी की हालत खतरे से बाहर बताई थी। प्रधान लोकेश गिरी ने पत्नी, सास एवं ससुर के खिलाफ हत्या करने की तहरीर दी थी। उन्होंने कहा कि जिस पर मयंक के गले में चोट के निशान आए है। यह हत्या प्रतीत हो रही है। संगठन पीडि़त प्रधान परिवार के साथ है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि पुलिस ने हत्यारोपियों को जल्द गिरफ्तार नहीं किया तो संगठन आंदोलन करने पर मजबूर होगा। इस दौरान जगवीर सिंह, वीरेंद्र प्रधान, संजय प्रधान, शिवकुमार, भूपेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव