भय नागरिकता कानून  लेकर नहीं है, एनआरसी को लेकर है: जयंत चौधरी


अमित सैनी


दोघट। रालोद के महासचिव जयंत चौधरी ने पत्रकार वार्ता में कहा कि सवाल नागरिकता संशोधन बिल का नहीं है। पहले भी देश में नागरिकता कानून था जो जान बचाकर आये उन्हें नागरिकता देना कोई गलत नहीं है, पुराने कानून में भी ये है लेकिन इन लोगों ने तो ये माहौल बनाना था। आसाम और बंगाल में हिंदू मुस्लिम भावना तेज करनी थी। ये भय नागरिकता कानून  लेकर नहीं है भय एनआरसी को लेकर है। बिहार, यूपी, झारखंड आदि प्रांतो के गरीब मजदूर जो  रिक्शा चलाकर या दिल्ली जैसी जगहों पर आकर बड़ी बड़ी इमारतें बनाकर खड़ी कर रहे है आज उन्ही से कागजात मांगे जाएंगे। वे कहां से कागज लाएंगे।  मजदूर लोग है जहां कार्य मिला वहीं कार्य करने लगते है। छपाक फिल्म देखने जाने के सवाल पर कहा कि मैं फिल्म कभी देखता नहीं हूं लेकिन देखनी पड़ी। किसी को भी दबाया नहीं जा सकता। उसे दबाया जा रहा है। कहा कि  यूनिवर्सिटी में जाकर बच्चों को पीटा जा रहा है। आशु बंम फोड़े जा रहे है। जबकि वहां छात्रों की पढ़ाई प्रभावित की जा रही है। वे परीक्षा की तैयारी तक नहीं कर पा रहे है।


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट