आयुष्मान भारत योजना के परिवारों का होगा सत्यापन 25 से 31 जनवरी तक चलेगा अभियान

 यूरेशिया संवाददाता


मेरठ। जिले में आयुष्मान भारत योजना के तहत सर्वेक्षण अभियान चलाकर असत्यापित परिवारों का सत्यापन किया जाएगा। इसके लिये विभाग ने सभी तैयारी कर ली हैं। आयुष्मान भारत योजना की नोडल अधिकारी डा. पूजा शर्मा ने बताया सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के अनुसार कमजोर वर्ग के लोगों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिया जा रहा है। शासन के आदेश पर लाभार्थियों की सूची के हिसाब से सर्वे कर असत्यापित परिवारों के सत्यापन का काम 25 जनवरी से आरंभ हो रहा है। इस काम में आशा कार्यकर्ताओं की मदद ली जाएगी।
 योजना के जिला समन्वयक जितेन्द्र कुमार ने बताया जनगणना 2011 के आंकडों के हिसाब से आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की सूची बनायी गयी है। पिछले सर्वे में बहुत से ऐसे परिवार हैं जिनका किन्हीं कारणों से सत्यापन नहीं हो पाया था। शासन के आदेश पर 25 जनवरी से इनके सत्यापन का कार्य आरंभ किया जाएगा। इसके लिये विभाग की ओर से माइक्रो प्लान बनाया गया है। इस कार्य के लिये डाटा- प्रोफार्मा प्रिंट कराया गया है। यह प्रोफार्मा आशा कार्यकर्ताओं का दे दिया गया है। सर्वे और सत्यापन का कार्य 31 जनवरी तक चलेगा। उन्होंने बताया सर्वे में नये नामों को नहीं जोड़ा जाएगा। इसमें वही नाम रहेंगे जो योजना की सूची में तो हैं पर औपचारिकता पूरी न होने के कारण लाभ से वंचित हैं। सत्यापन के बाद उनकी सभी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद उन्हें योजना का लाभ मिलने लगेगा।
 नोडल अधिकारी डा पूजा शर्मा ने बताया जिले में 64 प्राइवेट अस्पताल पैनल में हैं जो आयुष्मान योजना का लाभ मरीजों को दे रहे हैं। अब तक 1.63 लाख गोल्डन कार्ड बन चुके हैं।  8256 मरीजों को उपचार के लिये विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया। इसमें से 7943 मरीजों को उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी  दे दी गयी है। मरीजों के उपचार के लिये 11.02 करोड़ का क्लेम अस्पतालों को दिया जा चुका है। आयुष्मान भारत योजना में मेरठ प्रदेश में 8वें स्थान पर है।  


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट