4 दिन से लापता युवक की गुमशुदगी की दी तहरीर

Image
लापता बच्चे का फोटो डॉ असलम/ युरेशिया  बहसूमा। नगर के मोहल्ला चैनपुरा का रहने वाला एक 17 वर्षीय युवक संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया। परिजन 4 दिनों से उसकी तलाश में जुटे हुए थे। लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। गायब हुए बच्चे के पिता ने थाने पर गुमशुदगी दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। थाने पर तहरीर देते हुए लापता हुए एक बच्चे के पिता शकील पुत्र सिराजुद्दीन ने बताया कि उसका पुत्र नईम उम्र 17 वर्ष बीते 28 फरवरी को घर से बिना बताए चला गया। जब 1 मार्च की शाम तक घर नहीं लौटा तो उसकी रिश्तेदारी एवं संबंधियों में तलाश की। लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। पीड़ित ने थाने पर गुमशुदगी की तहरीर देते हुए बरामदगी की मांग की है। थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज चौधरी का कहना है कि तहरीर के आधार पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

आंगनबाड़ी केंद्रों पर हुई गर्भवतियों की गोदभराई


  • छह माह की गर्भवती महिलाओं को दी गई पोषण टोकरी

  • नियमित जांच और प्रसव के बारे में दी गई जानकारी


यूरेशिया संवाददाता


नोएडा। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग की ओर से जनपद में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर गुरूवार को गर्भवती महिलाओं की गोद भराई के कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में 1000 गर्भवती महिलाओं की गोद भरी गयी। इसमें एनीमिया मुक्त भारत के परिपेक्ष में सभी गर्भवती महिलाओं एवं उनके परिवारों को आयरन की गोली के महत्व तथा उनका सेवन न करने के दुष्परिणामों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। गोदभराई कार्यक्रम में गर्भवती महिलाओं को पुष्टाहार की पोटली भी दी गयी। 


जिला कार्यक्रम अधिकारी पूनम तिवारी ने बताया आंगनबाड़ी केंद्रों पर हर माह की 30 तारीख को गोदभराई का कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। इस आयोजन का उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को बेहतर पोषण का संदेश देना है। उन्होंने बताया इस आयोजन के दौरान छह माह की गर्भवती महिलाओं के साथ उस परिवार की अन्य महिलाओं को भी आंगनबाड़ी केंद्र बुलाया जाता है। कार्यक्रम के दौरान बाल विकास परियोजना अधिकारी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गर्भ के दौरान बेहतर पोषण के फायदे बताती हैं। इतना ही नियमित जांच और प्रसव के दौरान रखी जाने वाली सावधानियों और प्रसव उपरांत स्तनपान को लेकर जरूरी जानकारी भी दी जाती है। जनपद में 1108 आंगनबाड़ी केन्द्र हैं।
गुरूवार को जनपद में आयोजित गोदभराई कार्यक्रम में गर्भवती महिलाओं को कैल्शियम और आयरन की गोली नियमित रूप से खाने की न केवल सलाह दी गई बल्कि गोलियां वितरित भी की गईं। इस मौके पर गर्भवती महिलाओं को मंगल गान के साथ भेंट की गई पोषण टोकरी में पोष्टिक अनाज, दालें, फल और सब्जियां पुष्टाहार व अन्य चीजें रखी गई थीं।
परिवार का उत्सव सा लगता है
नोएडा की सुजाता 6 माह की गर्भवती हैं। वह आंगनबाड़ी केन्द्र पर आयोजित गोदभराई कार्यक्रम में शरीक हुईं। उन्होंने इस कार्यक्रम को बहुत ही उपयोगी बताया। उन्होंने कहा गोदभराई कार्यक्रम में आकर उन्हें ऐसा लगा जैसे वह अपने परिवार के किसी कार्यक्रम में आयी हों। यहां गर्भवती की देखभाल व स्वास्थ्य संबंधी सभी प्रकार की जानकारी उन्हें मिली


Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला