’पराक्रम दिवस (नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर वेंक्टेश्वरा में ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार एवं उनके स्वतन्त्रता संघर्ष पर ’’विशाल पोस्टर प्रर्दशनी’’

Image
नेताजी के संघर्ष से मिली अनमोल आजादी को व्यर्थ ना जाने दे युवा- डाॅ0 सुधीर गिरि  आजादी की जंग में निर्विवाद रुप से नेता जी से बड़ा कोई पराक्रमी नहीं- कर्नल अमरदीप त्यागी देश की आजादी के लिए नेताजी का संघर्ष एवं पराक्रम समूचे भारत के लिए वन्दनीय- डाॅ0 बी0एन0 पाराशर युवाओ/छात्रो को नेताजी के जीवन दर्शन एवं संघर्ष गाथा बताने के लिए संस्थान ने अपने पुस्कालय में किया 500 से अधिक पुस्तको का संग्राहलय- डाॅ0 राजीव त्यागी  अनीस खान/ युरेशिया  मेरठ।आज राष्ट्रीय राजमार्ग बाईपास स्थित वेंक्टेश्वरा विश्वविद्यालय/संस्थान में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस जयन्ती (पराक्रम दिवस 23 जनवरी) की पूर्व संध्या पर देश की आजादी के सबसे बड़े महानायक आजाद हिन्द फौज के संस्थापक नेताजी के बलिदान को याद करते हुए ’’नेताजी एक वैचारिक क्रान्ति’’ विषय पर सेमीनार का आयोजन हुआ, जिसमें वक्ताओ ने आजादी के लिए नेताजी की संघर्ष गाथा पर सिलसिलेवार प्रकाश डालते हुए इस महान योद्धा की पराक्रम गाथा से उपस्थित स्टाॅफ एवं छात्र-छात्राओ को रुबरु कराया। इसके साथ ही विख्यात शिक्षाविद् एवं आजाद हिन्द सेना मंच से जुड़े डाॅ0 बी0एन0 पाराशर के निर्दे

महिलाएं हर मुसीबत का मुकाबला निड़रता व साहस से करें, आयोग व सरकार उनके साथ -सुषमा सिंह



  • महिलाएं व्हाटस ऐप नम्बर पर समस्याएं भेजकर कराएं उसका निस्तारण, आयोग करेगा हरसंभव मदद-सुषमा सिंह


 

यूरेशिया संवाददाता

मेरठ। उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की मा0 उपाध्यक्ष श्रीमती सुषमा सिंह जी द्वारा सर्किट हाउस में जनसुनवाई कर महिलाओं की समस्याओं का निराकरण सुनिश्चित कराया तथा कहा कि महिलाओं के मौलिक अधिकारों की रक्षा हेतु महिला आयोग का गठन किया गया है। महिलाएं हर मुसीबत का मुकाबला निड़रता व साहस से करें। महिलाओं की सहायता हेतु आयोग द्वारा व्हाटस ऐप नम्बर 06306511708 जारी किया गया है। इस अवसर पर मा0 उपाध्यक्ष के समक्ष 21 महिलाओं ने अपनी समस्याएं रखी जिस पर उन्होंने संबंधित अधिकारियों व पुलिस अधिकारियों को पीड़िता की हर संभव मदद करने के लिए निर्देशित किया। 

सर्किट हाउस सभागार में जनसुनवाई करते हुए मा0 उपाध्यक्ष श्रीमती सुषमा सिंह ने कहा कि भारतीय संविधान में समानता की दृष्टि से महिला और पुरूष को समान मौलिक अधिकार दिये गये है। महिलाओं को भी समाज में पुरूषों के समान अधिकार प्राप्त है इसलिए वह अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहंे। उन्होने महिलाओं से कहा कि वह सरकार द्वारा संचालित महिला हेल्पलाइन 181 पर मदद लें। पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह यह सुनिश्चित करें कि महिलाएं न्याय व मदद पाने के लिये दर दर की ठोकरे ना खाये।

मा0 उपाध्यक्ष ने महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि वह अपने उत्पीड़न को कतई भी बर्दाश्त न करें, बल्कि उसका डटकर सामना करें। उन्होंने बताया कि महिलाओं की सहायता हेतु आयोग द्वारा व्हाटस ऐप नम्बर 06306511708 जारी किया गया है, जिस पर कोई भी पीड़ित महिला अपनी आईडी सहित अपनी समस्या को शनिवार व रविवार को छोड़कर किसी भी कार्यदिवस में प्रातः 10 बजे से 05 बजे तक भेज सकती है। 

इस अवसर पर एसीएम सुनीता सिंह, सीओ पुलिस, महिला थाने की इंस्पेक्टर, जिला प्रोबेजन अधिकारी सहित अन्य विभागों के अधिकारी, कर्मचारी व महिलाएं उपस्थित रहे।

Popular posts from this blog

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव