पत्रकार को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ केस दर्ज़,बिल्डर व गुर्गे फरार

युरेशिया नई दिल्ली। विश्व पत्रकार महासंघ दिल्ली प्रदेश ने मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय भाटिया व एडिशनल डी सी पी रोहित कुमार मीणा को ज्ञापन व मांग पत्र सौंप कर पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ करके कार्रवाई की मांग की थी। पत्रकार मणि आर्य ने दिल्ली के पहाड़गंज में बाराही माता मंदिर में चल रहे अवैध निर्माण और निगम में फैले भ्रष्टाचार और भू - माफिया बिल्डर द्वारा सरकारी भूमि पर कब्जे को लेकर खबर को प्रकाशित की थी। जिसके बाद अब दिल्ली पुलिस ने सच दिखाकर प्रशासन को जगाने वाले स्थानीय पत्रकार मणि आर्य को धमकी देने वाले बिल्डर व उसके गुर्गों के खिलाफ नबी करीम थाना पुलिस भारतीय दंड सहिंता की धारा 506 के अंतर्गत रिपोर्ट संख्या 0013/2020 के तहत ने जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज़ कर लिया है। केस दर्ज़ होने की भनक लगते ही गिरफ्तारी के डर से आरोपी बिल्डर और उसके कई गुर्गे भूमिगत हो गए हैं। गौरतलब है की स्थनीय जनप्रतिनिधियों से सांठगांठ करके बिल्डर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण करने में माहिर माना जाता है इसलिए निगम पार्षद से लेकर महापौर तक मंदिर पर अवैध निर्माण को

जिलाधिकारी शकुंतला गौतम ने डीएलआरसी/जिला सलाहकार समिति जिला स्तरीय सुरक्षा समिति की बैठक ली


यूरेशिया संवाददाता


बागपत। जिलाधिकारी शकुन्तला गौतम व पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेंद्र यादव ने विकास भवन सभागार में डीएलआरसी/जिला सलाहकार समिति जिला स्तरीय सुरक्षा समिति की बैठक मैं जनपद  में कार्यरत बैंकों की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की गई। जिलाधिकारी ने कहा बैंकों में सभी मानक सुरक्षा की दृष्टि से पूर्ण होने चाहिए। संदिग्धों पर पैनी नजर रखी जाए शाखा के आसपास 100 मीटर के दायरे में अनावश्यक खड़े बैठे व्यक्तियों से पूछताछ में सत्यापन अवश्य कर लिया जाए। शाखा के आसपास संदिग्ध वाहनों को चेक करना आवश्यकतानुसार विधिक कार्यवाही भी की जाए। सिक्योरिटी गार्ड के लिए निर्देश दिए कि उनका खड़ा होने का स्थान सुरक्षित हो गार्ड का शस्त्र एक्शन पोजीशन में होना चाहिए। सीसीटीवी कैमरे चालू हालत में रहने चाहिए। जिलाधिकारी ने समस्त शाखा प्रबंधक को निर्देश दिए कि अलार्म का सप्ताह में एक बार बजाकर अवश्य चेक किया जाए। कम्युनिकेशन प्लान के अंतर्गत शाखा में दीवार एवं मैच पर पुलिस के नंबर आवश्यक दर्शाए जाएं। ओडीपी में 36 में से छह केश  फाइनल किए गए हैं जो खेदजनक हैं। इस पर जिलाधिकारी ने इसमें नाराजगी भी व्यक्त की।  
जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने 3900 करोड़ की पीएलपी पोटेंशियल लिंक्ड क्रेडिट प्लान 2020-21 की लॉन्चिंग की। बागपत  वर्ष 2020-21 के लिए संभाव्यतायुक्त ऋण योजना (पीएलपी) का विमोचन किया। 2020-21 के लिये किये गये कुल आंकलन मे से कुल कृषि ऋण की संभाव्यता रु 3480.50 करोड़ आंकी गई है। सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम - उद्यमो तथा स्वरोजगार के विकास के लिये निवेश एवं कार्यशील पूंजी के लिये रु 291.21 करोड़, निर्यात, शिक्षा, आवास ऋण रु 64.31 करोड़, आधारभूत संरचना के लिए ऋण संभाव्यता रु 47.52 करोड़, अनौपचारिक ऋण वितरण प्रणाली (एसअच जी / जेएलजी ) रु17.20 करोड़ का आंकलन किया गया है।


Popular posts from this blog

परीक्षितगढ़ क्षेत्र के ग्राम सिखैड़ा में महिला मिली कोरोना पॉजिटिव

मवाना में अवैध मीट कटान रोकने गई पुलिस टीम पर हमला 

माछरा गांव में खुलेआम उड़ाई जा रही हैं लॉक डाउन की धज्जियां