भाकियू ने गन्ना मूल्य वृद्धि की मांग को लेकर मीरापुर बाइपास तिराहे पर तीन घंटे जाम लगाया


 यूरेशिया संवाददाता


मीरापुरः भाकियू ने गन्ना मूल्य वृद्धि की मांग को लेकर मीरापुर बाइपास तिराहे पर तीन घंटे जाम लगाया। जाम में अनेक वाहन फंसे रहे।
भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले सैकडो कार्यकर्ताओं ने पानीपत खटीमा राजमार्ग पर मीरापुर बाईपास तिराहे पर करीब तीन घंटे धरना देकर यातायात ठप किया। भाकियू के तहसील अध्यक्ष अशोक घटायन ने बताया कि प्रदेश में विगत तीन वर्षों से राज्य सरकार द्वारा गन्ना मूल्य में वृद्धि नही की गयी है जबकि गन्ने की उत्पादन लागत में लगभग 20 प्रतिशत की वृद्धि हो चुकी है। गन्ने की रिकवरी में तीन प्रतिशत की वृद्धि हुई जिससे शुगर मिल मालिको को 90 रूपये प्रति कुन्तल का अतिरिक्त लाभ हुआ है। चालू पैराई सत्र में भी योगी सरकार ने मूल्य वृद्धि न कर किसानो के साथ धोखा किया है जिससे किसानो में भारी आक्रोश है। स्वामी नाथन कमैटी के अनुसार गन्ने के लागत मूल्य में 50 प्रतिशत जोडकर गन्ने के मूल्य की घोषणा की जानी चाहिये। उन्होने प्रदेश सरकार द्वारा गन्ना पत्ती, धान की पुराली जलाये जाने पर भी लगे प्रतिबन्ध को तुरन्त हटाने की मांग की। भाकियू ने मुुख्यमन्त्री को प्रेषित ज्ञापन में गन्ना मूल्य 450 रूपये प्रति कुन्तल घोषित करने, बकाया गन्ना मूल्य ब्याज सहित दिलाने, गलत पर्चियों को संशोधित कराने, पूर्व की भांति 15 कुंतल वनज को आधार मानकर पर्ची आवंटित की जायें। भाकियू ने इन मांगो को लेकर एक ज्ञापन एसडीएम जानसठ कुलदीप मीणा के माध्यम से मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ को प्रेषित किया।
एसडीएम जानसठ ने भी अपने स्तर से किसानो की समस्याओं के समाधान का भारोसा दिया। धरने की अध्यक्षता चौधरी राजसिंह ने की तथा संचालन बुजुर्ग भाकियू नेता ओम प्रकाश शर्मा ने किया। हाजी महबूब आलम ने कहा सरकार द्वारा गन्ना पत्ती व पुरानी फूंकने पर लगाये प्रतिबन्ध को तुरन्त हटाये जाने की मांग की। उन्होने कहा कि प्रदूषण फैलने के और भी बहुत कारण हैं किसान खेती व वृक्षो के माध्यम से वातावरण को प्रदूषण मुक्त करता है। वक्ताओं ने बिजली मूल्य घटनाने, नहरों से रेत निकालने आदि की भी मांग की। धरने को एम्बुलेंस, स्कूली वाहन, शादी वाहन आदि से मुक्त रखा गया। धरने पर फायर ब्रिगेड की गाडी के साथ क्षेत्राधिकारी जानसठ धनंजय सिंह कुशवाहा, मीरापुर रामराज पुलिस के साथ सक्रिय रहे। धरने को हाजी महबूब आलम, विपिन मेहंदियान, अशोक घटायन, महकार सिंह, सुधीर कुमार, प्रताप सिंह, शिव कुमार, आलोक प्रधान चुडियाला, रामसिंह, उमेन्द्र, मौ. इकबाल, योगेन्द्र बालियान, धीर सिंह, राजेन्द्र सिंह, सीताराम, प्रविन्द्र सिंह, जसविन्द्र सिंह आदि ने सम्बोधित किया।


Comments

Popular posts from this blog

यूपी पंचायत चुनाव : मेरठ में ग्राम प्रधान पदों की आरक्षण सूची जारी, देखें ब्लॉकवार आरक्षण की सूची

मेरठ में महिला ने तीन बेटियों समेत खुद की गर्दन काटी, एक की मौत

मुरादनगर में दर्दनाक हादसा, अंतिम संस्कार में गए लोगों पर गिरने से 23 की मौत, CM ने मांगी रिपोर्ट